Blog IAS book shop News Offer Shop Uncategorized

यूपीएससी (UPSC) आईएएस एग्जाम चरण

यूपीएससी (UPSC) आईएएस एग्जाम चरण –

यूपीएससी (UPSC) प्रति वर्ष सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन कराता है जिसे हम आईएएस एग्जाम के नाम से भी जानते हैं। यूपीएससी (UPSC) विभिन्न सेवाओ के लिए लगभग दर्जन भर परीक्षाओ का आयोजन करता है, जैसे अभियांत्रिकी, चिकित्सा, वन सेवा भारतीय अभियांत्रिकी सेवा
भूगर्भ सेवा
भारतीय आर्थिक और सांख्यिकी सेवा
विशिष्ट श्रेणी रेलवे प्रशिक्षु सेवा
केंद्रीय पुलिस सेवा
संयुक्त चिकित्सा सेवा
राष्टीय रक्षा सेवा
इत्यादि। इस आलेख में हम यूपीएससी (UPSC) आईएएस परीक्षा पैटर्न के बारे में जानेंगे। इस परीक्षा में तीन चरण होते है पहला है प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam) दूसरा है मुख्य परीक्षा (Main Exam) और तृतीय है साक्षात्कार (Interview / Personality Test). प्रत्येक अभ्यर्थी को इन चरणों से गुजरना होता है। आगे हम इस सभी चरणों तथा इनके पैटर्न के बारे में विस्तार से समझेंगे।

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam) :

यह परीक्षा जून माह में आयोजित होती है।
परीक्षा के इस चरण में हमें दो पेपर्स देने होते हैं, जिनमें पहला है सामान्य अध्ययन (General Studies) जो कि प्रथम प्रश्न पत्र के रूप में आता है और दूसरा पेपर है सिविल सेवा योग्यता टेस्ट (Civil Services Aptitude Test). जिसमें प्रत्येक पेपर 200 अंको का होता है और सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार (Objective Type) होते हैं जिन्हें हल करने के लिये आपको चार घंटों का समय मिलता है, यानि कि प्रत्येक प्रश्न पत्र के लिये दो घंटे का समय। इस परीक्षा से जुड़ी एक महत्वपूर्ण बात यह है कि प्रारम्भिक परीक्षा का रिजल्ट (अंकों का योग) फाईनल परीक्षा में नही जोड़ा जाता और प्रारंभिक परीक्षा को पास किये बिना आप मुख्य परीक्षा भी नहीं दे सकते। आईएएस परीक्षा की फाईनल मेरिट में केवल मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार मे अर्जित किये अंकों को ही जोड़ा जाता है और उसी के अनुरूप आपकी रैंक निर्धारित की जाती है।

मुख्य परीक्षा (Mains Exam) : यह परीक्षा अक्टूबर माह में आयोजित होती है।
इस परीक्षा में कुल नौ पेपर्स हुआ करते हैं और तकरीबन 180 से 200 प्रश्न होते हैं जिनका कुल योग 1750 अंकों का होता है। प्रत्येक पेपर के लिये तीन घंटों का समय निर्धारित होता है।

पहला प्रश्न पत्र : इसमें आपको अठारह भारतीय भषाओं (Indian Languages) में से किसी एक भाषा का चयन करना होता है जिसके आधार पर यह पेपर होता है, और यह 300 अंको का होता है जिसमें 20 से 25 प्रश्न होते हैं। और ध्यान रहे कि इस पेप्र के अंक भी फाईनल रिजल्ट में नही जोड़े जाते हैं।

दूसरा प्रश्न पत्र : यह प्रश्न पत्र अंग्रेजी भाषा (English Language) का होता है और यह भी 300 अंकों का होता है तथा इस पेपर के अंक भी फाईनल रिजल्ट में सम्मिलित नही किये जाते हैं।

तीसरा प्रश्न पत्र : यह निबंध (Essay Writing) का पेपर है जो कि दो खण्डों में होता है जिसमे प्रत्येक खण्ड से एक – एक विषय पर निबंध लिखना होता है और यह पेपर 250 अंकों का होता है। इस पेपर के अंक अंतिम परिणाम में जोड़े जाते हैं।

चौथा, पांचवां, छठवां तथा सातवां प्रश्न पत्र: ये सभी पेपर सामान्य अध्ययन के होते हैं और प्रत्येक प्रश पत्र 250 अंकों का होता है। ये सभी पेपर्स आपके सामाजिक, आर्थिक इत्यादि मुद्दों की समझ की परीक्षा के मकसद से लिये जाते हैं।
जिसमें विभिन्न मुद्दों व परिस्थितियों में आपकी सूझबूझ व जानकारी की परख की जाती है।

आठवां व नौवां प्रश्न पत्र: ये दोनों पेपर्स वैकल्पिक विषय (Optional Papers) के होते हैं जिन्हें आप अपनी रुचि के अनुरूप चुन सकते हैं। हर एक प्रश्न पत्र 250 अंकों का होता है तथा इन दोनों पेपर्स के अंक फाईनल रिजल्ट में जोड़े जाते हैं।

साक्षात्कार (Interview) : यह फरवरी से अप्रैल माह के बीच में आयोजित होते हैं।
यह इस सिविल सेवा परीक्षा का अंतिम और सबसे महत्वपूर्ण चरण है, आप मुख्य परीक्षा (लिखित) को पास करने के बाद आपको साक्षातकार के लिये बुलाया जाता है। साक्षातकार कुल 750 अंकों का होता है और इसमें अर्जित किये गये अंक आपकी मेरिट लिस्ट में जोड़े जाते हैं। साक्षातकार को हम अपनी मनपसन्द भाषा में दे सकते हैं जैसे हिंदी या अंग्रेजी इन्त्यादि। इंटरव्यू सामन्यत: फरवरी से अप्रैल माह की भीतर आयोजित होते हैं।

Related posts

Leave a Comment